पावन सिद्ध भूमि में सिद्धों की आराधना

पावन सिद्ध भूमि में सिद्धों की आराधना

संसार में दुख का मूलतः कारण है ज्ञान का अभाव-

 

  कुण्डलपुर। बुदेलखंड की पावन धरा श्रीधर केवली भगवान् की निर्वाण स्थली सिद्ध क्षेत्र कुण्डलपुर मैं श्री सिद्धचक्र महामण्डल विधान में इन्द्र-इन्द्राणियाँ ने सिद्ध भगवतों की आराधना की | पूज्य गुरुदेव आचार्य श्री १०८ विद्यासागर जी महराज के मंगल आशीर्वाद से एवं क्षेत्र की पावन धरा पर विराजमान आचार्य श्री १०८ धर्म भूषण महराज के मंगल सानिध्य में बिधानाचार्य पं.देवेश कुमार शास्त्री (बलेह) के निर्देशन में एवं ब्र.बहिन पिंकी दीदी के पावन सानिध्य में प्रतिदिन श्रद्धाभक्ति के साथ अष्ट द्रव्यों के थाल सजाकर सिद्ध प्रभु की आराधना मैं लीन रहे| 

 

प्रतिदिन श्रद्धालु जिनेन्द्र भगवन की भक्ति पूर्वक अभिषेक, शांतिधारा कर संगीत की स्वर लहरियों के साथ जिनेन्द्र प्रभु के अनंत गुणों की वंदना की पूज्य बड़े बाबा के श्री चरणों में श्रद्धा भक्ति और आस्था का अभूतपूर्व संगम दिखाई दिया । सम्पूर्ण तीर्थ परिसर भक्ति रंग में रंगा रहा और सभी के लिए विश्व शांति और मैत्री भाव का संदेश दे रहा है|  विद्याभवन में भव्य और आकर्षक सिद्धचक्र महामण्डल विधान के मण्डल की रचना की गई थी साथ विधान के प्रमुख पात्रों सौ धर्म इन्द्र, श्री पाल मेना सुंदरी,  कुबेर महराज, ईशान इन्द्र यज्ञनायक, महायज्ञ नायक आदि सभी पात्रों द्वारा माडने पर क्रमशः 8,16,32,64,128,256,512 एवं 1024 अर्घ समर्पित कर अनंतानंत सिद्ध भगवतों की आराधना की|  

कार्यक्रम के प्रारंभ में घटयात्रा, ध्वजारोहण मण्डल उद्घाटन के साथ सकलीकरण मण्डप प्रतिष्ठा, इन्द्र प्रतिष्ठा एवं गुरु आज्ञा  के साथ ही कार्यक्रम प्रारंभ किया अंत मे कार्यक्रम का समापन विश्व शांति हवन एवं श्री जी शोभायात्रा जल विहार के साथ किया गया कार्यक्रम के  बिधानाचार्य पं. देवेश कुमार शास्त्री के मुखारबिन्द से प्रतिदिन ज्ञान की गंगा धर्मोपदेश से बही प्रवचन के द्वारा बिधान जी मैं प्रतिदिन सम्मलित होने वाले और वाहर से पधारने वाले यात्री श्रद्धालु भी मां जिनवाणी के अमृत मयी वचनों का लाभ लिया! और अपने जीवन को कल्याण मार्ग पर प्रशस्त किया है |संगीतकार अनुभव जैन इन्दौर एण्ड पार्टी के स्वर संगम के माध्यम से सभी को भक्ति रस का रसास्वादन करवाया गया ! उक्त कार्यक्रम जैन दिवाकर बड़कुल गौरझामर वाले,इन्दौर परिवार के द्वारा यह कार्यक्रम आयोजित किया गया!

 

भारतवर्षीय दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र कमेटी

www.tirthkshetrcommittee 

Leave a Reply

Your email address will not be published.Required fields are marked *