Teerth Vandana

जैन तीर्थ वंदना (मासिक पत्रिका)

भारतवर्षीय दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र कमेटी

तीर्थक्षेत्र कमेटी के बढ़ते उत्तरदायित्वों एवं समग्र जैन समाज की आकांक्षाओं और अपेक्षाओं को देखते हुए सन् 1983 से तीर्थक्षेत्र कमेटी के मुखपत्र के रूप में ‘जैन तीर्थ वंदना’ का प्रकाशन किया जा रहा है ।
वर्तमान में तीर्थक्षेत्र कमेटी के सदस्यों को प्रति माह इसकी 5000 प्रतियाँ निःशुल्क भेजी जाती हैं ।
अब आप यह पत्रिका यहाँ से डाउनलोड करके पढ़ सकते है ।

मासिक पत्रिका प्राप्त करें

भारतवर्षीय दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र कमेटी

भारतवर्षीय दिगम्बर जैन तीर्थक्षेत्र कमेटी का इतिहास

देश भर में दूरदूर तक स्थित अपने दिगम्बर जैन तीर्थयों की सेवा-सम्हाल करके उन्हें एक संयोजित व्यवस्था के अंतर्गत लाने के लिए किसी संगठन की आवश्यकता है , यह विचार उन्नीसवीं शताब्दी समाप्त होने के पूर्वसन् 1899 ई. में, मुंबई निवासी दानवीर, जैन कुलभूषण, तीर्थ भक्त, सेठ माणिकचंद हिराचंद जवेरी के मन में सबसे पहले उदित हुआ।